Sunday, September 24, 2017

अंक - 28

अँधेरी रात
फटी चटाई पर
ज़ख्मी सपने

-डा० सूरजमणि स्टेला कुजूर

No comments: